cloud computing kya hai
cloud computing kya hai

आपने ये शब्द बहुत बार सुना होगा या पढ़ा होगा की क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है.जैसे जैसे युग बदल जाता है वैसे वैसे टेक्नोलॉजी भी बदल जाती है, Cloud Computing भी एक टेक्नोलॉजी का भाग है. तो चलिए इसके संबधित सारे टॉपिक समझते है.

आज सभी को अपना डेटा स्टोर करने के लिए कुछ न कुछ चाहिए होता है और उसे कही न कही उसकी जरुरत पड़ती है |और क्लाउड कंप्यूटिंग सबसे अच्छा विकल्प है जिसकी आज हम बात करेंगे |

क्लाउड कंप्यूटिंग में हमें कई तरह के सेवाएं मिलती है | क्लाउड कंप्यूटिंग एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसमे हम अपना कोई भी डेटा सेव कर सकते है और ये सेव करा हुआ डेटा दुनिया में कही से भी प्राप्त कर सकते है |

Cloud क्या है (Cloud kya hai ?)

क्लाउड वे सर्वर को संदर्भित करता है जो इंटरनेट पर प्रदान किये जाते है. क्लाउड सर्वर पूरी दुनिया के डेटा केन्द्रो में स्थित है. क्लाउड यूजर को अपना डेटा और फाइल्स को कई डिवाइस में देखने में सक्षम बनाता है

क्लॉउड सभी एक दूसरे से जुड़े हुए सर्वर से बना है. क्लॉउड में सर्वर से ज्यादा देता स्टोर किया जा सकता है. क्लाउड ने कई कंपनी को भी अपनी समस्याओ का समाधान दिया है.

क्लाउड Cloude Computing का एक भाग ही है.जिसके बारे में हम आगे जानते है.

क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है (What is Cloud computing in Hindi)

Cloud Computing मे हम कंप्यूटर रिसोर्स को deliever कर सकते है. क्लाउड कंप्यूटिंग एक licenced सर्विस है जो अलग अलग विक्रेताओं के द्वारा प्रोवाइड किया जाता है |

क्लाउड कंप्यूटिंग हमें इंटरनेट के माध्यम से सभी प्रकार की सर्विस प्रदान करता है. इसमें यूजर उनको जो सर्विस चाहिए उनके ही पैसे देते है.और इसमें उनको खुद की कोई सर्विस नहीं देनी पड़ती.

"what

इसलिए सभी बड़े बड़े लोगो भी क्लाउड कंप्यूटिंग का इस्तेमाल करता है. क्लाउड कंप्यूटिंग को चलना बहुत ही आसान है . क्लाउड सिस्टम में जो टेक्नोलॉजी का उपयोग होता है वो अद्रश्य होती है क्युकी ये PHP , HTTP आदि टेक्नोलॉजी से बनी हुयी है.

लेकिन इसमें यूजर अपने मोबाइल और कंप्यूटर आदि को क्लाउड सिस्टम के साथ कनेक्ट कर सकता है | वैसे हम देखे तो क्लाउड कंप्यूटिंग का मतलब है इंटरनेट पर जो सुविधाएं है जैसे की स्टोरेज सर्वर्स ,नेटवर्क डिवाइसिस से है जिसे हम इंटरनेट पर इस्तेमाल करते है |

आपने Google Drive,Mediafire,Upbox,Mail,Social media जैसी इंटरनेट की Service यूज़ की होगी.ये सर्विस क्लॉउड कंप्यूटिंग की है,जो इस अभी चीज़ का देता स्टोर करती है.

क्लाउड कंप्यूटिंग के उदाहरण

Google Drive:-आपने गूगल ड्राइव का नाम सुना ही होगा गूगल ड्राइव में आप अपने फाइल्स,फोटोए,डॉक्यूमेंट आदि चीज़ को सग्रह कर सकते हो.Google Drive आपकी १५ GB का स्टोरेज फ्री में देता है, ये स्टोरेज Cloud Computing  में सग्रह होता है.

Youtube:-यूट्यूब भी एक गूगल का प्रोडक्ट है,जहा एक दिन में १,००,०० से ज्यादा वीडियो अपलोड होते है. तो आपको लगता होगा की इस सारे Videos का Data कहा Store होता होगा ? ये देता भी Cloud Computing में ही स्टोर होता है.

"example

Images Website:-आपने Unsplash,Shutterstocks,pexels इस सभी वेबसाइट को नॉन कॉपीराइट इमेज डाउनलोड करने के लिए यूज़ किया होगा,ये सभी वेबसाइट के इमेजेज यहाँ ही स्टोर होते है.

Mail:-आपने कभी भी किसीको Google Email,Yahoo mail किया होगा,तो आपको मालूम है ये देता कहा जाता होगा ? ये देता Cloud कंप्यूटर में जाता है.

[Also Read]Artificial Intelligence kya hai

[Also Read] Download Palki 2 Template Download

क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार

क्लाउड कप्टिंग में ४ प्रकार के भाग होते है,जो नीचे मे ने आपको समझा ने की कोशीश की है

Private क्लाउड कंप्यूटिंग

Private Cloude Compting में आप जो भी देता स्टोर करते हो वो सिर्फ आप ही Access कर सकते हो,आपके सिवई कोई ये देता Access नहीं कर सकता बिना आपके Permission के. उसका बेस्ट example गूगल ड्राइव है.अगर आपने अपनी गूगल ड्राइव में फोटो,डॉक्यूमेंट अपलोड किये है तो वो सिर्फ आप को ही देखता है.

Facebook,Instagram की बात करे तो उसमे भी आपके फोटोज,विडोज़ आप ही Access कर सकते हो,जैसे की कुछ नए फोटो add या डिलीट कर सकते हो.

Public क्लाउड कंप्यूटिंग

अगर  Public Cloud में किसी ने कुछ फाइल,डाटा,डॉक्यूमेंट पब्लिक रखा है तो ये देता सभी के लिए उपलब्ध है.आप उससे देख सकते हो और Access भी कर सकते है या फिर आप उसे Change भी कर सकते है. इसमें देता ज्यादा सिक्योर नहीं होता है.

उसका उदाहरण दू तो मेडिअफिरे.कॉम में आप किसी भी फाइल को अपलोड करके वो लिंक शेयर कर सकते हो,मगर आपको Public क्लाउड कंप्यूटिंगमें अपना Private Data नहीं share करना चाहिए.

Community क्लाउड कंप्यूटिंग

आपको ये नाम से ही समज आता है,इसमें जो देता होगा वो सिर्फ एक कम्युनिटी या संस्था के लिए ही उपलब्ध होगा.ये देता और कोई बहार का Accessया पढ़ नहीं सकता.

इसका एक उदहारण दू तो कोई कंपनी/कॉलेज या किसी भी कम्युनिटी में शेयर किया हुआ देता वो कंपनी/कॉलेज/कम्युनिटी के कर्मचारी या विद्यार्थी ही देख सकते है.

Hybrid क्लाउड कंप्यूटिंग

हाइब्रिड क्लॉउड प्राइवेट और पब्लिक दोनों क्लॉउड को मिला कर बनता है.इस में कुछ Data प्राइवेट,तो कुछ देता Publicly दिखाया जाता है.

इसका एक उदहारण दू तो Amazon में आप सभी प्रोडक्ट्स को Publiclyदेख सकते हो,परन्तु दूसरे के Cart आप नहीं देख सकते हो.ये Hybrid Cloud का अच्छा उदाहरण है.

Final Words

मुझे आशा है आपको हमारा ये क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है (What is Cloud Computing in hindi) आर्टिकल पसंद आया होगा, और आपको गूगल में ये टॉपिक सर्च करना ना पड़ेगा | अगर आपको कोई सवाल है आप हमे Comment कर सकते है, हम उसका जवाब तुरंत देंगे |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here